Skip to Content

UP Election 2021 यूपी पंचायत चुनाव में चन्द्रशेखर आज़ाद की ज़बरदस्त दस्तक़ से विपक्षियों में बेचैनी

UP Election 2021 यूपी पंचायत चुनाव में चन्द्रशेखर आज़ाद की ज़बरदस्त दस्तक़ से विपक्षियों में बेचैनी

Closed
by May 5, 2021 National

UP Election 2021 गुलिस्ताँ नेटवर्क। दिल्ली। यूपी पंचायत चुनाव के नतीजों के आने के बाद से यूपी की सियासत में चंद्रशेखर आज़ाद चर्चा का विषय बन गए हैं। मात्र एक साल पहले वजूद में आयी पार्टी के नतीजों ने धुरंधरों का ध्यान अपनी तरफ आकर्षित किया है। यूपी पंचायत चुनाव में आज़ाद समाज पार्टी को मिली अपार सफलता से राजनैतिक दलों के समीकरण बिगड़ते नज़र आ रहे हैं। पश्चिमी उत्तर प्रदेश के हर ज़िले में आज़ाद समाज पार्टी ने अपनी आमद दर्ज करवा कर लोगों को सोचने पर विवश कर दिया है। मुज़फ़्फ़रनगर और बिजनौर में बसपा की राजनैतिक ज़मीन पर आज़ाद समाज पार्टी ने पूरी तरह से कब्ज़ा कर लिया।

related news Bhim Army : निजीकरण और चोर दरवाजे से नौकरी देने के ख़िलाफ़ 7 मार्च को सदन का घेराव करेगी भीम आर्मी – चन्द्रशेखर आज़ाद

UP Election 2021 चंदरशेखर आज़ाद ने उन ज़िलों पर सम्पूर्ण कब्ज़ा किया है जो कभी मायावती का गढ़ माना जाता था। विधानसभा चुनाव २०२२ के लिए पश्चिमी यूपी को बहुत महत्वूर्ण माना जा रहा है। बसपा सुप्रीमो मायावती पश्चिमी यूपी से ही हैं और चंदरशेखर आज़ाद भी पश्चिमी यूपी से ही हैं। मायावती के सत्ता तक पहुँचने में पश्चिमी उत्तर प्रदेश का बहुत बड़ा योगदान रहा है। पंचायत चुनाव में आजाद समाज पार्टी ने जिस तरह से अपनी आमद दर्ज कराई है उससे यह कहा जा सकता है कि पश्चिमी यूपी में उसकी जड़ें मजबूत हो रही हैं। पश्चिमी यूपी के अधिकतर जिलों में आजाद समाज पार्टी के उम्मीदवार चुनाव जीत गए हैं।

UP Election 2021 चंदरशेखर आज़ाद की मजबूत एंट्री से जहाँ सत्ता हासिल करने का सपना देख रही मायावती को सबसे बड़ा झटका लगा है वहीं २०२२ में आज़ाद में बिना अखिलेश यादव की राह भी मुश्किल नजर आ रही है। आज़ाद समाज पार्टी ने बसपा और कांग्रेस जैसी राजनैतिक पार्टियों को पीछे छोड़ कर लोगों को चौंका दिया है। महज एक साल में आज़ाद की पार्टी ने यूपी के मुज़फ्फरनगर, सहारनपुर, मेरठ, ग़ाज़ियाबाद, हापुड़, मुरादाबाद, बरेली, शाहजहांपुर, बुलंदशहर,अलीगढ, आगरा, एटा, फ़िरोज़ाबाद, शिकोहाबाद, झाँसी, कानपूर, बाँदा, बदायूं , रामपुर, सीतापुर, लखनऊ, इलाहबाद, सुल्तानपुर, जौनपुर, फैज़ाबाद , अम्बेडकर नगर, आजमगढ़, बस्ती, गोंडा, बहराइच, श्रावस्ती, गोरखपुर, गाज़ीपुर और मऊ ज़िलों में अपना मजबूत संगठन खड़ा कर लिया है।

related newsBye Election 2020 : बहुजन समाज के अधिकारों के लिये आखिरी सांस तक लड़ता रहूँगा, मैं गोलियों से डरने वाला नहीं हूँ : चन्द्रशेखर आज़ाद

UP Election 2021 भीम आर्मी (भारत एकता मिशन) आज़ाद समाज पार्टी का संगठन है जो देश भर में महिलाओं की सुरक्षा, सामाजिक न्याय और समानता के लिए संघर्ष कर रहा है। भीम आर्मी के सामाजिक कार्यों से प्रभावित हो कर युवा बड़ी संख्या में संगठन से जुड़ रहे हैं और यही संगठन पार्टी की रीढ़ की हड्डी है। इस समय देश भर में भीम आर्मी के लगभग ६ करोड़ सदस्य हैं, जो पीड़ित और शोषित समाज को न्याय दिलवाने के लिए रात दिन संघर्ष कर रहा है। पार्टी को मिली कामयाबी के पीछे चंदरशेखर आज़ाद के सामाजिक संगठन भीम आर्मी का बहुत बड़ा योगदान है। आज़ाद ने कहा कि पार्टी की कामयाबी के लिए भीम आर्मी के क्रन्तिकारी और समर्पित साथियों का बहुत बड़ा योगदान है। भीम आर्मी के युवा सिपाहियों ने संसाधनों के आभाव में वह कर के दिखा दिया जिसके लिए लोग दशकों से सपना देख रहे हैं। रावण ने कहा कि मैं भीम आर्मी और आज़ाद समाज पार्टी के सभी क्रांतिकारी सिपाहियों के समर्पण, त्याग और उनके हौसले को सलाम करता हूँ। सबको विजय की मुबारकबाद ! कोरोना महामारी में जश्न न मनाएं, घरों में रहें, कोविद के नियमों का पालन करें। Post By- KD Siddiqui Email-editorgulistan@gmail.com

Previous
Next