Skip to Content

Bhim Army : निजीकरण और चोर दरवाजे से नौकरी देने के ख़िलाफ़ 7 मार्च को सदन का घेराव करेगी भीम आर्मी  – चन्द्रशेखर आज़ाद

Bhim Army : निजीकरण और चोर दरवाजे से नौकरी देने के ख़िलाफ़ 7 मार्च को सदन का घेराव करेगी भीम आर्मी – चन्द्रशेखर आज़ाद

Closed
by February 8, 2021 National

Bhim Army : पूर्वी दिल्ली। आज दिल्ली के प्रेस क्लब में केंद्र सरकार की नीतियों के खिलाफ आज़ाद समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष चंद्रशेखर आज़ाद ने जम कर हमला बोला। उन्होंने कहा कि भाजपा कि केंद्र सरकार निजीकरण को जहा बढ़ावा दे रही है वहीं चोर दरवाज़े से अपने अयोग्य सगे संबंधियों को नौकरियां बाँट रही है। आज़ाद ने कहा की सरकार पूंजीपतियों की रखैल की तरह से कार्य कर रही है। सरकार देश के फायदे के बजाए उद्योगपतियों के फायदे के लिए नीतियां बना रही है। सरकार को न गरीबों की फ़िक्र है और किसानों की चिंता।

Bhim Army : सरकारी संसाधनों को निजी हाथों में देकर केंद्र सरकार राष्ट्र को कमज़ोर करने का कार्य कर रही है। सरकार की ग़लत नीतियों के कारण समाज में गरीबी और अमीरी का फासला बढ़ता जा रहा है। अमीर और अमीर होता जा रहा है, ग़रीब और ग़रीब होता जा रहा है। चंद्रशेखर आज़ाद ने कहा कि पहले शिक्षा और स्वास्थ्य व्यवस्था का बाजारीकरण करके अमीरों और उद्योगपतियों को लाभ पहुँचाया गया और सरकारी व्यवस्था को अधमरा कर दिया गया, अब उसमें सुधार के नाम पर रेलवे, जीवन बीमा, हवाई यात्रा और तमाम सरकार व्यवस्था का निजीकरण किया जा रहा है।

चोर दरवाजे से नौकरी की निति को वापस ले केंद्र सरकार
Bhim Army : आज़ाद समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष चंद्रशेखर आज़ाद ने सोमवार को दिल्ली के प्रेस क्लब में मीडिया को बताया कि केंद्र सरकार ने अभी तक लैटरल एन्ट्री के द्वारा जिन लोगों की नियुक्ति किया है, उसमें एक भी एससी, एसटी, ओबीसी या अल्पसंख्यक समाज से कोई नहीं है। उन्होंने कहा की इस योजना के द्वारा आरक्षण को नज़रअंदाज़ किया जा रहा है। उन्होंने इसे संवैधानिक अधिकारों का उललंघन बताया। आज़ाद ने कहा कि सरकार अगर इस योजना को वापस नहीं लेती है तो भीम आर्मी / आज़ाद समाज पार्टी देश के कोने कोने से लोगों को संगठित करके ७ मार्च को सदन का घेराव करेगी। चंद्रशेखर आज़ाद केंद्र सरकार को उद्योगपतियों और पूंजीपतियों की सरकार बताया। उन्होंने कहा कि इस समय देश संकट के दौर से गुजर रहा है। जहां सरकार एक तरफ आरक्षण खत्म करने की योजना बना रही है वहीं दूसरी तरफ संविधान में संसोधन करके हमारे अधिकारों को संकुचित करने का प्रयास कर रही है। अगर आज सब ने संगठित हो कर इस तानाशाही के खिलाफ आवाज़ नहीं उठाया तो देश फिर से गुलाम हो जायेगा। Post Update BY- KD Siddiqui, Email- editorgulistan@gmail.com

Previous
Next