Skip to Content

Bihar Assembly Election 2020 : हाथरस बलात्कार की घटना भी बिहार चुनाव का मुद्दा

Bihar Assembly Election 2020 : हाथरस बलात्कार की घटना भी बिहार चुनाव का मुद्दा

Closed
by November 5, 2020 Bihar, National

Bihar Assembly Election 2020 : ” मोदी जी अयोध्या में राम का मंदिर ज़रूर बना रहे हैं, लेकिन राम केवल अयोध्या में थोड़े ही हैं, ऊ ता सर्वत्र हैं। हम सभी के दिल में हैं। सवाल है कि ऊ या उनका सरकार बिहार में का बनाया है। और कश्मीर में धारा ३७० हटाने से बिहार के लोगों को क्या लाभ मिलेगा।” ये कहना था आज समस्तीपुर में तेजस्वी यादव की सभा में पहुंचे जहाँ पांच बाबा टाइप लोगों को बैठे देख मैं भी उनके बीच जाकर बैठ गया। प्रधानमंत्री की तारीफ करते हुए जब मैंने कहा कि गजब काम किए हैं मोदी जी, तभी पांच में से एक बाबा बोल उठे, ” ओकरा बाते मत कीजिए, ओक्कर से बड़ा कोई अधर्मी नहीं है। कोरोना के नाम पर सावन में बाबा धाम का पूजा रोक दिया। सगरो मंदिर में पूजा पाठ बंद करा दिया। परव तेहवार खत्म कर दिया। अभी चुनाव में जब आदमी का देह से देह लर रहा है त अभी कोरॉना नहीं हो रहा है का।”
” हाथरस के केस को के भूलेगा हो। रात में ई लोग लड़की का क्रिया करम कर दिया। अगर कल ई घटना आप ही और हमरे घर में हो जाएगा त क्या कीजिएगा। ई लोग मीडिया को भी नहीं जाने दिया था।” उन्हीं पांच बाबाओं में से एक ने कहा। कौतूहलवश जब मैंने पूछा, बाबा आप को इतना कुछ कैसे पता है तो वह बोले, “काहे हम अखबार और टीवी नहीं देखते हैं क्या।”

Bihar Assembly Election 2020 : ” लॉकडाउन में जनता पर जो ई सरकार जुलुम किया है, उससे पूरा लोग बिगड़ा हुआ है नीतीश पर। कैसे इसका पुलिस परदेस से आ रहे लोगों को रोककर मारा पीटा था, जनता सब याद रखले है। मार सहल हुआ आदमी ललुआ के बेटा को भोट नहीं करेगा तो किसको करेगा।” बांदे पंचायत से आए विनोद सिंह और शंकर सिंह ने कहा। दोनों किसान हैं। उनके घर से कोई प्रदेश में भी नहीं रहता है, लेकिन उनका कहना है हमरे साथ नहीं हुआ लेकिन इसी समाज का लोग था ना ऊ सब।”
किसान बलदेव यादव कहते हैं, ” एगो काम नहीं होता है बिना पैसा देलेे। ई समझिए की नितेश गेले हैं ई बार। ऐसा नहीं है कि ऊ काम नहीं किए हैं। काम ता बहुत किए हैं लेकिन १५ साल बहुत हुआ। १५ साल ललुआ भी राज किया ई भी १५ साल राज किए। अब दूसरे को आजमाएगा जनता। ठीक से नहीं चलाएगा तो इनको भी लोग बाहर कर देगा। अब गया ऊ जमाना। कोई जात पात नहीं, पब्लिक को विकास चाहिए।”
क्या सब यादव लालटेन को वोट करेगा, इस सवाल पर बलदेव कहते हैं, ” सब यादव काहे देगा लालटेन को भोट। अपना अपना मर्ज़ी है सबका। ऐ ही तो लोकतंत्र है। विपक्षी भी ता ज़रूरी है। दस पर्सेंट यादव बाहर रहेगा इस बार बाकी सब लालटेन में है।
bihar assembly election 2020
Bihar Assembly Election 2020 : युवकों के एक समूह ने कहा, ” सर, रोजगार का मुद्दा यहां सबसे ऊपर है इस बार। इसके बाद सिक्षा का मुद्दा दूसरे स्थान पर है। मैट्रिक पास कर सब को बिहार से भागना पड़ता है पढ़ाई के लिए। लड़का लोग का उम्र खतम हो रहा है कोई वेकेंसी ही नहीं निकाल रहा है। हम २०१४ में जो एसएससी का एग्जाम दिए थे उसका रिजल्ट आज तक नहीं निकला।”
दूसरे लड़के ने कहा, ” यहां बीएड में २ से ढाई लाख तक रुपया लेे रहा है सब जबकि इसका फीस देढ़े लाख है। सब सरकारी आदमी का बीएड कॉलेज है। विरोध प्रदर्शन से भी यहां कुछ नहीं होता है।”
महिलाओं ने बताया, दो ही बार तो गैस का पैसा आया था, अब कहां आ रहा है। हम झूठ नहीं बोलेंगे कॉरोना का पैसा दो बार हजार हज़ार रुपया खाते पर आया था। किसान वाला पैसा भी आया है। लेकिन सब बोल रहा है कि ई बार लालटेन को देना है ता हमसब भी लालटेनें को देंगे भोट।”

Bihar Assembly Election 2020 : वहीं बाइक पर बैठे हाथ उठकर ज़िंदाबाद के नारे लगा रहे दो लोगों को मैंने पकड़ लिया। पूछने पर कहा,” हम दोनों सिक्षक हैं, और ई भी जान लीजिए फॉरवर्ड जाति के हैं लेकिन हम यहां आए हैं और महागठबंधन को भोट भी करेंगे। ई सरकार टीचर लोगों को जो सताया है न इसको हम लोगों का श्राप परेगा देखिएगा। टीचर ही नहीं, पूरा संविदा स्टाफ गुस्साया हुआ है इससे। आप लिख लीजिए ई सरकार जा रही है।” Post Written By – Dr Hussain Tabish

Previous
Next