Skip to Content

bye election 2020 : बुलंदशहर सीट पर आज़ाद समाज पार्टी का हो सकता है कब्ज़ा, मायावती के भाजपा समर्थन की घोषणा के बाद से बदला चुनावी समीकरण

bye election 2020 : बुलंदशहर सीट पर आज़ाद समाज पार्टी का हो सकता है कब्ज़ा, मायावती के भाजपा समर्थन की घोषणा के बाद से बदला चुनावी समीकरण

Closed
by October 31, 2020 Bulandshahar, U.P.

गुलिस्तां ब्यूरो।
बुलंदशहर। (वसीम सिद्दीक़ी)
उत्तर प्रदेश के उपचुनाव में बुलंदशहर की सदर सीट पर सभी पार्टियों ने अपनी अपनी ताक़त झोंक दिया है लेकिन मायावती के भाजपा के समर्थन की घोषणा के बाद से समीकरण बदल गया है। भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर आज़ाद की आज़ाद समाज पार्टी में मतदाताओं की अचानक से बढ़ोत्तरी हुई है। बुलंदशहर में हुई चंद्रशेखर आज़ाद की जनसभा के बाद से वहां की जनता की सोच में परिवर्तन हुआ है और लगातार वोटरों की संख्या बढ़ती जा रही है। दलित नेता चंद्र्शेखर आज़ाद को सुनने के बाद से लोगों में आज़ाद समाज पार्टी की तरफ रुझान भारी संख्या में बढ़ रहा है।

bye election 2020 : बुलंदशहर में आज़ाद समाज पार्टी का सामना सीधा बसपा से था लेकिन चुनाव से ठीक पहले मायावती द्वारा भाजपा के समर्थन की घोषणा से जहाँ बसपा के समर्थकों में मायूसी हुई है, वहीं आज़ाद समाज पार्टी का मतदाता बढ़ने लग गया है। क्षेत्रीय लोगों का कहना है कि बसपा के समर्थकों के पास अब एक ही रास्ता बचता है कि वह चंद्रशेखर आज़ाद के साथ खड़ा हो जाये क्यों कि इस समय देश में आज़ाद समाज पार्टी एकलौती पार्टी है जो बाबा साहब भीम राव आंबेडकर के विचारों के अनुरूप कार्य करके मान्यवर कांशीराम साहब के सपनों को साकार करने के लिए संघर्ष कर रही है।

bye election 2020 : लोगों ने कहा कि जब बसपा अपने उद्देश्य से भटक गयी है तो हमारे पास आज़ाद समाज पार्टी सबसे विश्वसनीय विकल्प है और अब इस क्षेत्र का दलित और मुस्लिम संगठित हो कर आज़ाद समाज पार्टी के उम्मीदवार हाजी यामीन को जीता कर चंद्रशेखर आज़ाद के हाथों को मजबूत करेंगें। लोगों में जहाँ मायावती के ब्यान का गुस्सा है वहीं चंद्रशेखर आज़ाद जैसे क्रांतिकारी नेता को अपने साथ पा कर संतोष दिखायी दे रहा है। जहाँ पहले लोग बसपा और उसके उम्मीदवार की चर्चा कर रहे थे, वहीं बुलंशहर के हर गली और चौक, चौराहे पर चंद्रशेखर आज़ाद की चर्चा हो रही है। राजनीती के जानकारों का कहना है कि मायावती के ब्यान से निश्चितरूप से आज़ाद समाज पार्टी का मतदाता बढ़ा है और एक नवंबर को होने वाली चंद्रशेखर आज़ाद की जनसभा के बाद हाजी यामीन की जीत लगभग तय बताई जा रही है। Edit by : KD Siddiqui, Email- editorgulistan@gmail.com

Previous
Next