Skip to Content

Hathras Rape Case : बहन कंगना को जब वाई श्रेणी की सुरक्षा मिल सकती है तो पीड़िता के परिवार को क्यों नहीं ? – चन्दरशेखर आज़ाद

Hathras Rape Case : बहन कंगना को जब वाई श्रेणी की सुरक्षा मिल सकती है तो पीड़िता के परिवार को क्यों नहीं ? – चन्दरशेखर आज़ाद

Closed
by October 4, 2020 National

Hathras Rape Case : दिल्ली। उत्तर प्रदेश के जिला हाथरस के थाना चंदपा क्षेत्र में हुए दलित युवती से सामूहिक बलात्कार के मामले की देश भर में सर्वत्र निंदा हो रही है और योगी सरकार की आलोचना। देश भर में लोगों में भारी आक्रोश है। लोग बलात्कारियों को जल्द से जल्द फांसी और पीडिता के परिवार को सुरक्षा देने की मांग कर रहे हैं। यूपी सरकार ने भारी विरोध के बीच ज़िले के एसपी सहित पांच अधिकारीयों को बर्खास्त कर दिया लेकिन ज़िले के डीएम के प्रति लोगों में आक्रोश बरकरार है। सभी सामाजिक संगठनों और राजनैतिक दलों के लोग व मीडिया लगातार जिलाधिकारी के निलंबन की मांग कर रहे हैं लेकिन अभी तक डीएम के विरुद्ध कोई कार्रवाई नहीं हुई है।

Hathras Rape Case : गौरतलब है कि हाथरस बलात्कार मामले में सबसे पहले भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर आज़ाद ने दखल दिया था , उसके बाद से शासन और प्रशासन की नींद खुली। चंदरशेखर आज़ाद के अलीगढ पीड़िता से मिलने जाने के बाद से मामला सुर्ख़ियों में आया और शासन, प्रशासन के साथ साथ देश के मीडिया ने भी दिखाना शुरू किया। पीड़िता की मौत बाद जब भीम आर्मी प्रमुख ने सफदरजंग अस्पताल के बाहर धरना दिया, उसके बाद से यूपी सरकार को पसीना छूट गया और बौखलाहट में हाथरस प्रशासन ने रात्रि के समय बिना परिजनों की अनुमति के गांव के बाहर तेल छिड़क कर पीड़िता के शव को आग के हवाले कर दिया।

Hathras Rape Case : उसके बाद से ज़िले डीएम द्वारा लगातार पीड़िता के परिवार को धमकाया जाता रहा है। इस बात का खुलासा पीड़िता के परिवार ने मीडिया से किया। शासन और प्रशासन के द्वारा किये जा रहे उत्पीड़न और अपमानजनक व्यवहार की खबर मिडिया में आने के बाद से देश उबलने लगा है। चरों तरफ लोग न्याय की मांग करने कर रहे हैं। भीम आर्मी ने सबसे मजबूती के साथ मामले को उठाया और सरकार को चेतावनी दिया की आरोपियों के खिलाफ अगर जल्द से जल्द कठोर कार्रवाई नहीं हुई तो भीम आर्मी देशव्यापी आंदोलन करने के लिए मजबूर हो जाएगी। चंद्रशेखर आज़ाद ने दिल्ली के जंतर मंतर से केंद्र सरकार से इस मामले की जाँच सीबीआई से करवाने की मांग किया, जिसका परिणाम यह हुआ कि यूपी सरकार ने उसी दिन रात को सीबीआई से जाँच करवाने की मांग मान लिया।

Hathras Rape Case : आज फिर भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर आज़ाद पीड़िता के परिवार से मिलने के लिए हाथरस पहुंचे हुए थे। चंद्रशेखर आज़ाद के जाने से पहले गांव का माहौल काफी गर्म था। ठाकुर समाज के लोगों की पंचायत चल रही थी, जहाँ से पीड़िता के परिवार को भी धमकियां दी जा रही थी। चंद्रशेखर आज़ाद से मिलने के बाद परिवार के लोगों ने गांव के हालात से अवगत कराया। गांव के हालात के मद्देनजर चंद्र शेखर आज़ाद ने कहा कि मुझे पीड़ित परिवार को अपने साथ ले जाने की अनुमति दी जाए या फिर सरकार परिवार की सुरक्षा सुनिश्चित करे, और कहा कि जब बहन कंगना को वाई श्रेणी की सुरक्षा मिल सकती है तो बलात्कार पीड़िता के परिवार को क्यों नहीं ? चंद्रशेखर आज़ाद ने कहा कि अगर सरकार सुरक्षा नहीं देगी तो भीम आर्मी के 5000 सिपाही पीड़ित परिवार की सुरक्षा में मै लगा दूंगा। Report Post By- KD SIddiqui Email-editorgulistan@gmail.com

Previous
Next