Skip to Content

Corruption In Mau : फ़ोन पर घूस मांगने वाले आरटीओ के ड्राइवर की कॉल रिकार्डिंग वाइरल

Corruption In Mau : फ़ोन पर घूस मांगने वाले आरटीओ के ड्राइवर की कॉल रिकार्डिंग वाइरल

Closed
by September 4, 2020 Azamgarh, Mau, U.P.

Corruption In Mau : आजमगढ़ (बुढ़नपुर)। कोरोना महामारी के दौर में बढ़ता भ्र्ष्टाचार नागरिकों पर दोहरी मार पड़ रही है। जहाँ लोगों का रोजी रोज़गार समाप्त हो गया है, वही सरकारी अमला अवैध वसूली में लिप्त है और शासन कुम्भकर्ण की नींद में सो रहा है। आजमगढ़ ज़िले के बुढ़नपुर तहसील क्षेत्र के अहरौला थाना अंतर्गत गोपालगंज भेदौरा गांव निवासी महेंद्र प्रताप सिंह पुत्र स्वर्गीय मुसाफिर सिंह ने आरोप लगाया है कि मऊ जिले के एआरटीओ अवधेश कुमार के ड्राइवर राहुल यादव द्वारा 50 हजार रूपये की रिश्वत मांगी जा रही है। बता दे की महेंद्र प्रताप सिंह के पास दो ट्रक हैं, जिस पर वह 28 अगस्त को टांडा से कोयले की राखी लाद कर मऊ के रास्ते गाजीपुर जा रही थी।

Corruption In Mau : मऊ के मोहम्मदाबाद बाजार में एआरटीओ अवधेश कुमार द्वारा दोनों ट्रकों की ओवरलोड की बात कही गई जिस पर उन्होंने ट्रक के ड्राइवर संतोष यादव से कहा कि 2 लाख रूपये का चालान कटेगी, अगर चालान नहीं कटवाना चाहते हो तो हमारे ड्राइवर से बात कर लो। ट्रक ड्राइवर सन्तोष ने एआरटीओ के ड्राइवर राहुल यादव से बात की तो राहुल ने कहा कि साहब 50 हजार में तुम्हारे दोनों ट्रक छोड़ देंगे।

Corruption In Mau : सन्तोष ने कहा कल मालिक से बात कर के आपको 50 हजार रुपया दे दिया जाएगा आप ट्रक गाजीपुर तक माल खाली करने जाने दीजिये। दोनों ट्रक अब गाजीपुर से माल खाली करके आजमगढ़ आ गया है। अब एआरटीओ के ड्राइवर द्वारा बार-बार फोन कर के 50 हजार रुपया माँगा जा रहा है, नहीं देने पर दोनों ट्रक का चालान करने की धमकी दी जा रही है। ट्रक मालिक का आरोप है कि एआरटीओ साहब का ड्राईवर बार-बार फोन पर घूस की डिमांड कर रहा है।

Corruption In Mau : वाहन स्वामी द्वारा पैसा देने से इंकार कर दिया गया वाहन स्वामी का कहना है कि जब 28 अगस्त 2020 को ट्रक पकड़े थे तभी चालान करनी चाहिए थी आज 4 दिन बाद मनमाने तरीके से अधिकारियों द्वारा पैसा वसूलने की बात की जा रही है यदि आज के तारीख में चालान की जाती है रिश्वत का पैसा ना देने की वजह से होगा। आरटीओ के ड्राइवर की ट्रक मालिक से हुई बात रिकॉर्ड हो गयी है और ज़िले भर के व्हाट्सएप ग्रुप में वाइरल हो रही है। जिससे विभाग, प्रशासन और शासन की किरकिरी हो रही है। अब देखना यह है क्या प्रशासन मामले की जाँच करवा कर उपरोक्त आरटीओ और उसके ड्राइवर के खिलाफ कार्रवाई करता है या मामला ठंढे बस्ते में डाल दिया जायेगा। Report – Ashish Pandey, Email- editorgulistan@gmail.com

Previous
Next