Skip to Content

आम आदमी पार्टी का दलित चेहरा बन कर उभर रहे हैं कुलदीप कुमार

आम आदमी पार्टी का दलित चेहरा बन कर उभर रहे हैं कुलदीप कुमार

Be First!
by August 19, 2019 Delhi, National
Gulistan

पूर्वी दिल्ली (गुलिस्तां डेस्क)। आम आदमी पार्टी के युवा पार्षद, एमसीडी के पूर्व नेता विपक्ष और एससीएसटी विंग के प्रदेश अध्यक्ष कुलदीप कुंमार पूर्वी दिल्ली के कोण्डली विधानसभा के कल्याणपुरी वार्ड से पार्षद भी हैं।
कुलदीप कुमार को आम आदमी पार्टी ने भले ही एससीएसटी विंग की ज़िम्मेदारी अभी सौंपी है लेकिन वह दलितों, शोषितों, पिछड़ों और रेहड़ी पटरी वालों के अधिकारों के लिये लंबे समय से संघर्षरत रहे हैं। जिसके लिये वह कोण्डली विधान सभा में एक क्रांतिकारी युवा नेता और सामाजिक कार्यकर्ता के रूप में जाने जाते हैं।
क्षेत्रवासियों का कहना है कि कुलदीप कुमार उर्फ मोनू भले ही कल्याणपुरी से पार्षद है लेकिन वह पूरी कोण्डली विधानसभा की जनता की जरूरतों को पूरी करने का हरसम्भव प्रयास करते हैं। राजवीर कालोनी, मुल्ला कालोनी, कोण्डली और खिचड़ी पुर व ग़ाज़ीपुर के लोग भी अपनी समस्याओं को लेकर कुलदीप कुमार के पास ही जाते हैं।
चाहे पेंशन का मामला हो या फिर साफ सफाई और बिजली, स्कूलों में दाखिले आदि की समस्याओं के लिये ऑफिस लोंगों की भीड़ दिखाई देती है।
लोंगों का कहना है कि उनके ऑफिस का स्टाफ और स्वयं कुलदीप बहुत ही सरल और मृदुल स्वभाव के हैं। उनके ऑफिस में जाने पर इज्जत मिलती है और तत्काल हमारी समस्याओ का निस्तारण करने का प्रयास किया जाता है। इस लिए हम लोग कुलदीप के पास बेझिझक पहुंच जाते हैं, और कुलदीप कुमार को चाहे रात्रि के 12 बजे फोन करो वह फोन जरूर उठाते है। इस लिये जनता का उनके साथ सीधा संपर्क है और अब कुलदीप कुमार दलितों, मजदूरों, पिछडो और शोषितों की आवाज़ बन चुके हैं।
जहां कहीं किसी मजलूम के शोषण की खबर मिलती है कुलदीप कुमार वहाँ मौजूद मिलते हैं। 10 अगस्त को दिल्ली के तुगलकाबाद में संत रविदास के प्राचीन मंदिर को तोड़ने से देश भर के दलितों और संत रविदास के अनुयायियों की आवाज़ को केंद्र सरकार तक पहुंचाने और दिल्ली में हो रहे उनके विरोध प्रदर्शनों का नेतृत्व करके कुलदीप कुमार ने अपने आप को साबित किया है।
18 अगस्त 2019 को कुलदीप कुमार के नेतृत्व में आम आदमी पार्टी के बैनर तले हजारों की संख्या में एससीएसटी समाज के लोंगों ने भाजपा के केंद्रीय कार्यालय पर विरोध प्रदर्शन किया। प्रदर्शन में कुलदीप कुमार ने कहा कि वह दलितों की आवाज़ को केंद्र की सत्ता पर काबिज गूंगी बहरी सरकार तक पहुंचाने और केंद्र की कठपुतली बनी हुई डीडीए को उसकी औकात बताने के लिये देश भर के एससीएसटी समाज को संगठित करेंगें और ज़रूरत पड़ने पर देशव्यापी आंदोलन और प्रदर्शन शुरू करेंगे।
निगम चुनाव से राजनीति में प्रवेश करने वाले कुलदीप कुमार अब प्रदेश की राजनीति ही नही बल्कि दलित समाज का कर्मठ, युवा और जुझारू नेता बन चुके हैं।
रिपोर्ट: KD Siddiqui, Email: editorgulistan@gmail.com

Previous
Next

Leave a Reply

Your email address will not be published.