Skip to Content

संत रविदास मंदिर तोड़ने के विरोध में दलित समाज ने कुलदीप कुमार के नेतृत्व में भाजपा मुख्यालय पर किया प्रदर्शन

संत रविदास मंदिर तोड़ने के विरोध में दलित समाज ने कुलदीप कुमार के नेतृत्व में भाजपा मुख्यालय पर किया प्रदर्शन

Be First!
by August 18, 2019 Delhi, National
Gulistan

पूर्वी दिल्ली। संत रविदास मंदिर तोड़ने से नाराज़ दलित समाज के लोगों ने आम आदमी पार्टी के दलित मोर्चा के अध्यक्ष कुलदीप कुमार के नेतृत्व में भाजपा मुख्यालय पर विरोध प्रदर्शन किया।
गौरतलब है कि शनिवार 10 अगस्त 2019 को दिल्ली के तुगलकाबाद स्थित संत रविदास मंदिर को दिल्ली विकास प्राधिकरण द्वारा ढहा दिया गया था। उसके बाद से दिल्ली से लेकर पंजाब तक दलित समाज में भारी आक्रोश ब्याप्त है। चूँकि डीडीए केंद्र सरकार के अधीन कार्य करता है। इस लिए दलित समाज भाजपा से नाराज है। दलित समाज के चिंतक और आम आदमी पार्टी के दलित मोर्चा के अध्यक्ष, कल्याणपुरी से पार्षद कुलदीप कुमार ने भाजपा पर दलित विरोधी कार्य करने और दलितों के अधिकारों का हनन करने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि देश में सबको धार्मिक आज़ादी है और किसी समाज के लोग अपने आराध्य के लिए मंदिर, मस्जिद बना कर पूजा पाठ कर सकते है लेकिन भाजपा यह अधिकार भी दलितों से छीनना चाहती है।
कुलदीप कुमार ने कहा कि यह संत रविदास जी का प्राचीन मंदिर था जिसको डीडीए ने भाजपा के इशारे पर तोड़ दिया।

संत रविदास मंदिर का इतिहास
संत रविदास बनारस से पंजाब की ओर जा रहे थे, तब उन्होंने 1509 में दिल्ली के तुगलकाबाद के इसी स्थान पर आराम किया था। जहाँ पर मंदिर कि स्थापना हुयी है। एक जाति विशेष के नाम पर यहां पर एक बावड़ी भी बनवायी गयी थी जो आज भी मौजूद है।
बताया जाता है कि यह मंदिर संत रविदास की याद में बनवाया गया था। स्वयं बादशाह सिकंदर लोदी ने संत रविदास से नामदान लेने के बाद उन्हें यहां जमीन दान की थी जिस पर यह मंदिर बनाया गया था। आजाद भारत में 1954 में इस जगह पर एक मंदिर का निर्माण हुआ था। Report: KD Siddiqui, Editorgulistan@gmail.com

Previous
Next

Leave a Reply

Your email address will not be published.